चीन ने दुनिया को बनाया कूड़ेदान

0
191
चीन ने दुनिया को बनाया कूड़ेदान
चीन ने दुनिया को बनाया कूड़ेदान

 

चीन ने दुनिया को बनाया कूड़ेदान

चीन ने दुनिया को बनाया कूड़ेदान

प्रख्यात अर्थशास्त्री एवं स्वदेशी जागरण मंच के राष्ट्रीय सह-संयोजक अश्विनी महाजन ने कहा कि शोर मचाया जा रहा है कि भारत विश्व में सबसे युवा देश है। 30 साल पहले की नई आर्थिक के बाद से बताया जा रहा है कि देश तरक्की कर रहा है,जबकि आंकड़े बताते हैं कि 15 से 29 उम्र के करीब 30 फ़ीसदी युवा पढ़ाई नहीं करते और कहीं रोजगार भी नहीं करते।ऐसे में देश जॉबलेस ग्रोथ की त्रासदी झेल रहा है। अश्विनी महाजन टिमिट में राष्ट्रीय सवदेशी सुरक्षा अभियान के तहत “चीन एक चुनौती’’ विषय पर आयोजित व्याख्यान को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि विश्व में व्यापार के लिए पहले गेट और बाद मे डब्ल्यूटीओ बनाया गया। बाध्यता के कारण हम डब्ल्यूटीओ का विरोध करते हैं। चीन 7 साल तक डब्ल्यूटीओ में शामिल नहीं हुआ। चीन ने मार्केट का अध्ययन करके पता लगाया कि दुनिया के लोग सस्ता माल खरीदना चाहते हैं। इसी के तहत समान्य दाम से भी कम कीमत पर माल देकर दुनिया भर के देशों को डंपिंग ग्राउंड (कूड़ादान) बना दिया।अमेरिका और यूरोप के देशों की इंडस्ट्री को इन इंडस्ट्री को समापित के कगार पर खड़ा कर दिया ।उन्होंने कहा कि भारत में चीन के कुल आयात का करीब 78 फीसदी माल अवैध रूप से आ रहा था ।देश की जनता के दबाव के बाद केंद्र सरकार ने चीन के 94 उत्पादों पर एंटी-डंपिंग ड्यूटी लगा कर अवैध आयात को रोका है। चीन के माल का पूर्ण बहिष्कार करना होगा। अमेरिका में कानून बना है कि सरकारी विभागों में देश में बनी वस्तुओं का उपयोग किया जाएगा। भारत में भी ऐसा कानून बनाया जाना चाहिए। स्वदेशी जागरण मंच के प्रान्त संयोजक राजीव कुमार,टीऍमयु  केवीसी आरके मुदगल, विपिनजैन,नीरज चौधरी आदि मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here