आंखों में पीले धब्बे डिमेंशिया की निशानी

0
39

क्या आप की आंखों में पीले धब्बे दिखाई पड़ते हैं तो सावधान हो जाए यह डिमेंशिया की प्रारंभिक निशानी हो सकती है डिमेंशिया मानसिक बीमारी है इसमें व्यक्ति की यादाश्त कमजोर हो जाती है इस रोग का सबसे प्रकार अल्जाइमर है शोधकर्ताओं के अनुसार इस तरह के धब्बे फैट और कैल्शियम के जमा होने से बनते हैं इससे रेटिना के नीचे एक परत बन जाती है जिसको जांच के जरिए देखा जा सकता है यह अगले आम तौर पर बुढ़ापे की निशानी और नुकसान रहत माने जाते हैं जब के निष्कर्षों से पता चला के सामान्य लोगों की तुलना में 25 फीसद अल्जाइमर तीर्थों में पीले धब्बे ज्यादा पाए जाते हैं उत्तरी आयरलैंड की बेलफास्ट यूनिवर्सिटी के शोधकर्ता ने कहा हमने अल्जाइमर रोग से इस तरह के धब्बों का जुड़ाव पाया है इस तरह के रोग का आंखों के जरिए पता लगाना मुश्किल है लेकिन इस की गंभीरता पर नजर रखने में मदद मिल सकती है अमेरिका के विज्ञान चक्र में यह आविष्कार क्रांतिकारी सिद्ध हो सकता है वैज्ञानिकों की मानें तो पीले धब्बे व्यक्ति में कई बीमारियों का कारण भी बन सकते हैं वजन घटाने की सर्जरी से चल सकता है त्वचा कैंसर शोधकर्ताओं ने मोटापे से पीड़ित लोगों में त्वचा कैंसर के खतरे को कम करने के लिए नया तरीका खोज निकाला है उन्होंने पाया है कि ऐसे लोगों में वजन घटाने की सर्जरी से त्वचा कैंसर के सबसे घातक प्रकार मेलानोमा से बचाव हो सकता है शोधकर्ताओं के अनुसार मोटापे को कैंसर से प्रमुख कारकों में गिना जाता है कई अध्ययनों से हालांकि यह जाहिर भी हो चुका है कि वजन घटाने से कुछ हद तक इस तरह के खतरों पर अंकुश पाया जा सकता है लेकिन मोटापा वजन घटाने और मेलानोमा के बीच सीधा जुड़ाव के साक्ष्य अभी तक कीमत है स्वीडन की गुटेनबर्ग यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने इस चुनाव पर नहीं रोशनी डाली उन्होंने वजन घटाने का मेलानोमा पर पड़ने वाले प्रभाव को जानने के लिए 2000 से ज्यादा लोगों के डेटा का विश्लेषण किया उन्होंने पाया कि बेरियाट्रिक सर्जरी से मेलानोमा में उल्लेखनीय कमी लाई जा सकती है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here