जानिए मां सरस्वती पूजा के मंत्र

0
133
जानिए मां सरस्वती पूजा के मंत्र
जानिए मां सरस्वती पूजा के मंत्र

जानिए मां सरस्वती पूजा के मंत्र

देवी भागवत के अनुसार देवी सरस्वती की पूजा सर्वप्रथम भगवान श्रीकृष्ण ने की थी।प्रात काल समस्त दैनिक कार्यों से होकर खान ध्यान करके मां सरस्वती की तस्वीर स्थापित करें।इसके बाद कलश स्थापित कर गणेश जी तथा नव ग्रहों विधिवत पूजा करें।सरस्वती जी का पूजन करते समय माता को सिंदूर भी अन्य सिंगार की वस्तुएं चढ़ाएं।फिर फूल माला चढ़ाए।मीठे का भोग लगाकर सरस्वती कवच का पाठ करें।माता श्वेत वस्त्र धारण करती है इसलिए उन्हें श्वेत वस्त्र पहनाए।प्रसाद के रूप में खीर अथवा दूध से बनी मिठाइयां चढ़ा सकते हैं।श्वेत फूल माता को अर्पण किए जा सकते हैं।देवी सरस्वती के मंत्र का जाप करने से असीम पुण्य मिलता है।जानिए मां सरस्वती पूजा के मंत्र

कमजोर छात्र क्या करें:उपाय जो विद्यार्थी शिक्षा में कमजोर हैं आज के दिन 6 मुखी रुद्राक्ष धारण करें। इससे उनकी एकाग्रता बढ़ेगी।

प्राण-प्रतिष्ठा युक्त सरस्वती माता का चित्र अपने अध्ययन कक्षा टेबल पर रखे।

यदि किसी नवजात बच्चे के जन्म पर सोने की सलाई को शहद में डुबोकर उसकी जीभ पर ‘ओम’ लिख दिया जाए तो वह विद्या में प्रवीन होता है और उसकी स्मरण शक्ति प्रखर रहती है।

अपनी टेबल पर क्रिस्टल या स्फटिक का गलोब रखें और उसे दिन में कम से कम तीन बार घुमाए।

परीक्षा से 1 सप्ताह पूर्व छात्र को दही और मीठा खिलाना आरंभ कर दे।

पढ़ाई सदा टेबल कुर्सी पर बैठकर ही करें और मुख पूर्व या उत्तर या उत्तर पूरब की ओर रखें।पीठ के पीछे ठोस दीवार हो, खिड़की नहीं।

कंप्यूटर आग्नेय कोण  दक्षिण पूर्व दिशा और पुस्तकों की अलमारी दक्षिण, पश्चिम में रखें।

जहां बैठते हैं वहां क्रिस्टल बॉल लटका ले या टेबल पर अभिमंत्रित एजुकेशन टावर रखें। इससे एकाग्रता बढ़ती है। मां सरस्वती की पूजा करें विद्यार्थी गरीब बच्चों में कलम में पुस्तकों का दान करें संगीत से जुड़े व्यक्ति अपने साथ पर तिलक लगा कर मां की आराधना कर सकते हैं। ताकि उन्हें परीक्षा में आशा से अधिक सफलता प्राप्त हो

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here