लंग कैंसर से कैसे बचें

0
237
lung cancer

खांसी जैसे शुरुआती लक्षणों को मामूली समझ कर अनदेखा ना करें यह लंग कैंसर का भी संकेत हो सकता है लोगों को इस बीमारी के प्रति जागरूक बनाने के लिए कैंसर अवेयरनेस डे मनाया जा रहा है क्योंकि इस समस्या से कैसे बचा जाये इसलिए यह लेख जरूर पढ़ें सही समय पर शुरुआती उपचार वातावरण में बढ़ते प्रदूषण की वजह से पैदा होने वाली समस्या समस्याओं में लंग कैंसर एक ऐसी गंभीर बीमारी है जिसके मरीजों की तादाद तेजी से बढ़ रही है इसलिए यहां संभव हो इसकी वजह और लक्षणों को पहचानने की कोशिश करनी चाहिए क्यों होती है यह समस्या वायु प्रदूषण को इस बीमारी के लिए खास तौर पर जिम्मेदार माना जाता है इसके अलावा कैंसर के कुछ अन्य वजह भी हैं जैसे फेफड़े की कोशिकाओं में होने वाला असामान्य बदलाव सिगरेट और तंबाकू का सेवन पैसिव स्मोकिंग यानी सिगरेट पी रहे व्यक्ति के आसपास मौजूद लोगों के लिए भी उसका दुआ नुकसानदेह साबित होता है प्रदूषण भरे माहौल में रहना जाकर व्हीकल फैक्ट्री में काम करना शोध से यह तथ्य सामने आया है कि बारिश के बाद वेस्टिज सीट से कुछ ऐसे नुकसान दे केमिकल्स का हिसाब होता है जिनकी वजह से व्यक्ति को फेफड़ों का कैंसर हो सकता है आनुवंशिकता इसकी प्रमुख वजह है अगर माता-पिता कोलन कैंसर हो तो आगे पीढ़ियों को जो तुम्हारी होने का खतरा होता है प्रमुख लक्षण लंबे समय तक खांसी की समस्या और कब के साथ ब्लीडिंग पेट और छाती में दर्द सांस लेने में तकलीफ से सीटी जैसी आवाज निकलती है सीढ़ियां चढ़ते समय सांस फूलता है सांस में प्रॉब्लम आती है क्या है इसके उपचार कैसे बचा जा सकता है आइए आपको बताते हैं अगर लंबे समय से चली आ रही खांसी दूर ना हो तो बिना देर किए किसी थोरेसिक सर्जन से संपर्क करें को जांच के लिए बायोप्सी आने चाहिए और सीटी स्कैन जैसी तकनीकों की मदद ली जा सकती है की आशंका होने पर मरीज को हमेशा किसी ऐसे हॉस्पिटल का चुनाव करना चाहिए यहां इस बीमारी से जुड़ी सर्जरी रेडियोथैरेपी उपचार की सारी सुविधाएं उपलब्ध हो फेफड़े के कैंसर के 95% मामलों में जरूरत होती है क्योंकि से पूरी तरह निकाल दिया जाता है इसके बाद बीमारी के अभिषेक को जलाकर नष्ट कर दिया जाता है अगर समय रहते ही मरीज का ऑपरेशन हो जाए तो कैंसर से छुटकारा मिलने की संभावना बढ़ जाती है इससे बचाव के लिए एडमिशन हो तो घर से बाहर निकलते समय लेने के बाद भी दूर ना हो तो डॉक्टर से सलाह लें अपने खान-पान में हरी पत्तेदार सब्जियां विटामिन सी युक्त फलों और ड्राई फ्रूट्स को प्रमुखता से शामिल करें ऐसी चीजें शरीर के सिस्टम को मजबूत बनाती है इसे पूरा शरीर हर तरह के संक्रमण से सुरक्षित रहता है अनुलोम-विलोम जैसे योग्य व्यास से भी फेफड़े स्वस्थ और मजबूत बनते हैं हमें उम्मीद है कि इससे आपको काफी जानकारी मिल गई है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here