7वी की छात्रा की शिकायत पर प्रधानमंत्री ने बदला राजघाट का स्टाफ

0
147
girls student

प्रधानमंत्री ने नई दिल्ही में राजघाट पर राष्टपिता महात्मा गाँधी की समाधि स्थल का न सिर्फ सारा स्टाफ बदल दिया बल्कि छात्रा को  पत्र लिख कर इस करवाई की सूचना भी दी है | हाश्मिता ने बताया की कुछ समय पहले वह परिवार के साथ डेल्ही  घुमने गई थी | इस दोरान उसने राष्टपिता के समाधि स्थल पर भी नमन किया | वहा जूते रखने के दो काउंटर्स है | एक पेड़ काउंटर है, 100 रु शुल्क वसूला जाता है | दूसरा काउंटर बिलकुल मुफ्त है | वहा उसने देखा जूता कांउटर पर नियुक्त कर्मचारी विदेशी सैलानियों से 100-100 रु वसूल रहे थे | विदेशी सैलानियों से जबरन वसूली उसे ठीक नही लगी | 13 साल की हशिमता को इस तरह का भ्रष्टचार किया जाना बहुत ख़राब लगा | साथ ही इस तरह की घटनाये विदेशी सैलानियों में हमारे देश की छवि भी ख़राब करती है |इसलिए उसने सनोर (पटिअला पंजाब) आकर इसकी लिखित शिकायत पर्धानमंत्री को भेजी |हालाकि उसके पास पर्धानमंत्री का पता भी नही था इसलिये उसने पर्धानमंत्री को नई दिल्ही लिखकर पोस्ट कर दी | उन्हें तो विशवास भी नही था की पर्धानमंत्री उनकी इस चिठ्ठी पर तुरन्त एक्शन लेगे |अब जब राजघाट समाधि समिति का पत्र उन्हें मिला तो पता चला की पर्धानमंत्री ऑफिस ने उसकी इस शिकायत पर तुरंत जाच के आदेश जरी कर दिए | पीऍमओ की जाच में हश्मिता द्वारा स्टाफ पर लगाये गये सभी आरोप सही थे| पीऍमओ ने तत्काल राजघाट के समाधि सथल का सारा स्टाफ बदल दिया | इसके साथ ही अब वहा पर इस तरह की घटना दुबारा न हो इसके लिए सीसीटीवी कैमरे भी इनस्टॉल किये जा रहे है | हश्मिता के पिता अमरदीप सिंह ने इस करवाई पर पीऍम का आभार जताया है | उन्होंने कहा है की वाकई पीऍम मोदी भ्रष्टचार के खिलाफ तत्काल करवाई करते है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here