क्या करें शनि के उपाय

0
331
क्या करें शनि के उपाय
क्या करें शनि के उपाय

क्या करें शनि के उपाय
शनि हर व्यक्ति के जीवन पर बड़ा प्रभाव डालता है।जीवन में 3 बार साडेसाती,19 साल की महादशा शनि की रहती है।लगभग 31 साल तक शनि का अच्छा-बुरा प्रभाव रहता है।जिन्हें शनि से परेशानी रहती है,उनके लिए हम इस ग्रह की शांति के लिए सामान्य उपाय दे रहे हैं।
सवा सौ ग्राम काले चने,कोयला,कौल काले कपड़े में बांधकर सात बार वार कर खड़े पानी में फैंके।
सवा किलो गुलगुले सात बार वार कर, शनिवार शाम को कोवों को डाले।
लोहे के पात्र में जल,चीनी,घी,दूघ मिलाकर पीपल की जड़ में डालें।
सूर्य अस्त होने पर शनि को नारियल बहाएं।
बड़ के पेड़ की जड़ में मीठा दूध डाले।
सवा किलो बादाम 8 शनिवार तक थोड़े-थोड़े नदी में डालें।
शनिवार को सवा मीटर काले वस्त्र में ये चीजें बांधकर वास्तविक डकेत को दे-काले जूते या चप्पल, सवा किलो काले साबुत उड़द,सवा किलो काले तिल,सवा लीटर सरसों का तेल, एक चाकू 8 काले गुलाब जामुन, काले नीले फूल।
हर शनिवार को इनमें से कोई एक चीज दान करते रहे:काले चने, काले उड़द, काले तिल, कोयले, नारियल, सरसों का तेल, काले गुलाब जामुन, काले जामुन, कस्तूरी, काला कपड़ा, काले जूते,सिक्का, पैसे,गेहू मक्की जों जवार,बाजरा,चने,चावल,चलते पानी में बहाए।
बांसुरी में खांड भरकर दबाएं
8 किलो काले उड़द बहाए।
नॉनवेज ना खाएं।
5 शनिवार आक के पौधे पर तेल चढ़ाएं और पांचवें शनिवार लोहे की कटोरी वहीं छोड़ दे।
शनि का व्रत करें। एक समय भोजन करें।
नवग्रह या हनुमान जी के मंदिर में जाएं।
आटे की गुड मिश्रित गोलियां जल में डालें।
कौवों को काले तिल के लड्डू दे, पानी के साथ में रखे।
कुए में दूध डालें।
सूर्योदय से पूर्व गुड मिश्रित जल तांबे के लोटे से पीपल पर चढ़ाएं।
अमावस पर 1 किलो उड़द की दाल का आटा, 2 किलो गुड, आधा किलो काले तिल 100 ग्राम सरसों का तेल ले।आटे को तेल में भूनकर गुड व तिल मिला दे।शनिदेव के मंदिर में इस का भोग लगाकर वापस ले आए।रोज इसमें से प्रसाद निकालकर चीटियों को डाले।
काली टाइल्स, मार्बल, काले कपड़ों का प्रयोग ना करें।
मकान ना खरीदें और पार्टनरशिप कुंडली दिखाकर करें।
भोजन का पहला भाग कुत्ते को दे।
शनिश्चरी अमावस को अपना पहना कपड़ा दान करें।
पश्चिम दिशा की ओर मुख करके कार्यों का संचालन करें।
शुभ कार्य करने से पूर्व पीपल पर पानी वाला नारियल तोड़े आधा वहीं छोड़ दे आधा बांट दे।
अपने से बड़े किसी व्यक्ति के साथ पार्टनरशिप करें।
निर्बल, असहायों की मदद करें।
दिवाली पर जरूरतमंदों को छाता दान दे।
अमावस पर घर, दुकान, ऑफिस की सफाई करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here