सेहत का फल मीठा

0
314
सेहत का फल मीठा
सेहत का फल मीठा

सेहत का फल मीठा

अच्छी सेहत को बरकरार रखने के लिए फलों का कोई जवाब नहीं है। फल जहां आपको बीमारी से बचाते हैं,वही आपके शरीर को अंदरूनी ताकत भी प्रदान करते हैं।कुछ ऐसे फल है, जो गर्मियों में आपकी सेहत को सुरक्षा कवच प्रदान करते हैं…

फलों में पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो हम सभी के अच्छे स्वास्थ्य का आधार हैं।तभी तो डॉक्टर और डाइटिशियन लोगो को फलों के संदर्भ में परामर्श देते हैं।

सेहत के रखवाले

फाइबर से परिपूर्ण फल काडियोंवेस्कुलर (ह्दय और रक्त वाहिनियो से संबंधित)रोगों, डायबिटीज और मोटापे के जोखिम को कम करते हैं।फलों में इलेक्ट्रोलाइटस जैसे पोटेशियम के अतिरिक्त फाइटोकेमिकल्स विशेषकर एंटीआक्सीडेंट, एंटीइनफलेमेटरी और अन्य सुरक्षात्मक होते हैं, जो बीमारियों से आप का बचाव करते हैं।

एंटीऑक्सीडेंट्स (रोग रक्षक और जीवन रक्षक तत्व)कोशिका को हुई क्षति को रोकने में मदद करते हैं।

डायबिटीज वाले भी खाए फल

इतने फायदे होते हुए भी अगर आपको डायबिटीज हैं।तो शायद आपने फ्लो का सेवन कम करने या उन्हें ना लेने की कोशिश तो अवश्य की होगी,क्योंकि “फल में चीनी अधिक है या फल मीठे है।फल खाने से ब्लड शुगर बढ़ सकती है।गर्मियों में जब आम, लीची,तरबूज जेसे मीठे फल उपलब्ध होते  है, तो डायबिटीज वालों की दुविधा बढ़ सकती है। डायबिटीज के साथ जीवन में जी रहे लोगों के लिए यह जानना आवश्यक है कि फल  डायबिटीज वालों के लिए प्रतिबंध नहीं है।जहां फल अपनी मिठास से लुभाते हैं वही फल हाई ब्लड प्रेशर और हृदय रोग से बचाव करते हैं।

फाइबर का मेल

फलों में कार्बोहाइड्रेट होता है, परंतु साथ ही साथ फलों में फाइबर भी है।फलों में पाए जाने वाला कार्बोहाइड्रेट डिब्बा और रिफाइंड पदार्थों में पाए जाने वाले कार्बोहाइड्रेट के समान ब्लड शुगर नहीं बढ़ाता।फ्लो का फाइबर आपकी भूख भी कम करता है और वजन घटाने में मदद करता है।

फल आप कितनी मात्रा में खा सकते हैं, क्योंकि अनाज की तरह फल में भी कार्बोहाइड्रेट है और डायबिटीज वाले सभी लोगों को कार्बोहाइड्रेट निश्चित मात्रा में खाना चाहिए।

फल की एक सविंग में 15 ग्राम कार्बोहाइड्रेट होना चाहिए।अगर आप कम कार्बोहाइड्रेट वाले फल खा रहे हैं जैसे स्टोबरी, आडू जामुन और टमाटर तो आप अधिक खा सकते हैं।कुछ फलों को उदाहरण के रूप में ले सकते हैं जैसे….

स्ट्रॉबेरी: इसमें पालीफिनोल है जो कार्बोहाइड्रेट के पाचन को धीमा कर सकता है, जिससे ब्लड शुगर को सामान्य करने के लिए कम इंसुलिन की आवश्यकता होती है।आप लगभग एक का कप  स्ट्राबरी एक वक्त की सर्विग में खा सकते हैं।

केला: एक मध्यम आकार का केला भी 15 ग्राम कार्बोहाइड्रेट ही प्रदान करता है।केला पोटेशियम और मैग्नीशियम का अच्छा स्रोत है, जो आपके ब्लड प्रेशर को कन्ट्रोल  रखने में मदद करता है।

आधा कप छोटा टुकड़ा किया हुआ आम,या तिहाई कप चीकू का पाइनएप्पल भी खा सकते हैं। इन फलों को खाना खाने के तुरंत बाद ना खाए,कुछ अंतराल जरूर दे।

पूरा फल खाना बेहतर

फ्लो का रस निकालने से हम फाइबर हटा देते हैं औरफाइबर के बगेर फल का शुगर तेजी सेअवशोषित होता है, जिससे ब्लड शुगर का स्तर बढ़ जाता है।रस के विपरीत पूरा फल खाना बेहतर है।

लाजवाब तरबूज

तरबूज में 90 से 95% तक पानी होता है।तरबूज वजन को कम करने में सहायक है।इस फल में एंटीआक्सीडेंट लाइकोपीन पाया जाता है।इस प्रकार पर सूर्य की किरणों और गर्मी से होने वाले नुकसान से हमारे शरीर को बचाता है।इसमें पोटाशियम,विटामिन ए और फाइबर भी पाया जाता है।

नारियल पानी से मिले राहत

यह कई पोषक तत्वों से भरपूर होता है और शरीर को ठंडक प्रदान करता है।नारियल पानी में इलेक्ट्रोलाइट पाए जाते हैं।यह शरीर में पानी की कमी नहीं होने देता।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here