कैसे पहचाने अपना लक्ष्य

0
604
how to identify your goals
how to identify your goals

कैसे पहचाने अपना लक्ष्य :पहचानने अपना लक्ष्य नए साल की शुरूआत में लोग अपने भविष्य को लेकर बहुत उत्साहित रहते हैं उनके मन में कई तरह के सपने और बड़ी-बड़ी योजनाएं होती है एक दो महीनों तक वह पूरे जोश के साथ तैयारी में जुटे रहते हैं फिर धीरे-धीरे उनका सारा उत्साह ठंडा पड़ जाता है अगर आपके साथ भी ऐसा होता है तो खुद से यह वादा करें के इस बार ऐसा नहीं होगा जीवन में कामयाबी हासिल करने के लिए अपनी क्षमताओं और लक्ष्य को पहचानना बहुत जरूरी है, कुछ ऐसे टिप्स जो आपके लिए बहुत मददगार साबित होंगे

पहले करें आतम मूल्यांकन अगर आप अपनी पढ़ाई जा कैरियर को लेकर कोई बड़ी योजना बनाने जा रहे हैं तो पहले ईमानदारी के साथ अपनी क्षमताओं और रुझान का आकलन करने की किस क्षेत्र में आपकी दिलचस्पी है और किन कार्यों को आप ज्यादा अच्छे ढंग से कर सकते हैं अपने रुझान और क्षमताओं की पहचान करने के बाद सचेत ढंग से किसी खास दिशा में कदम बढ़ाए मिसाल के तौर पर अगर आपकी रुचि रचनात्मक कार्यों में है तो यहां भी आपको स्पष्ट रुप से यह तय करना होगा कि आप किस खास क्षेत्र में काम करना चाहते हैं मान लीजिए अगर ड्राइंग और पेंटिंग में आपकी दिलचस्पी है तो अपना ध्यान इधर उधर भटकाने के बजाय सिर्फ उसी फील्ड पर फोकस करें आजकल छात्रों की रुचि से जुड़े हर क्षेत्र में अच्छे कैरियर की अपार संभावनाएं हैं आप भी अपनी मनपसंद प्रोफेशनल कोर्स के बारे में जानकारी हासिल करके वहां एडमिशन लेने की दिशा में कदम बढ़ाए लेकिन संस्थान का चुनाव करने से पहले कुछ अनुभवी सीनियर्स या कैरियर काउंसलर की सलाह अवश्य लें

शॉर्टकट ना ढूंढें एक बात हमेशा याद रखेंगे कड़ी मेहनत का कोई विकल्प नहीं होता प्रोफेशनल कोर्स केवल सीकर सीखने में आपकी मदद करता है पर उस क्षेत्र में आगे बढ़ने की संभावनाएं आपको खुद ही तलाशनी होंगी इसलिए यह सोचकर कहीं भी एडमिशन ना लें कि अमुक कोर्स करने के बाद मैं उस फील्ड का एक्सपोर्ट बन जाऊंगा किसी भी काम में  परफेक्शन हासिल करने के लिए बहुत ज्यादा मेहनत और धैर्य की जरूरत होती है ऐसा तभी संभव होगा जब वाकई उस क्षेत्र में आपकी रुचि होगी

बजे पियर प्रेशर से कुछ स्टूडेंट्स बिना सोचे समझे अपने दोस्तों की बातों में आकर उसी वर्ष में नामाकन के लिए आवेदन कर देते हैं यहां सब जा रहे होते हैं फिर कुछ ही दिनों के बाद उन्हें बोरियत महसूस होने लगता है और वह किसी दूसरे कोर्स में जाने की तैयारी में जुट जाते हैं इससे पैसों के साथ कीमती वक्त की भी बर्बादी होती है इसलिए दोस्तों के दबाव में आने के बजाय उसी फील्ड में करियर बनाएं जिससे आपकी रुचि होती है अगर आप इन बातों का ध्यान रखेंगे तो अपने कैरियर में आपको निश्चित रूप से कामयाबी मिलेगी ऑल द बेस्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here