#हर_हिंदुस्तानी_के_लिए  * आज #वायनाड का सत्य इतिहास

0
66
#हर_हिंदुस्तानी_के_लिए  * आज #वायनाड का सत्य इतिहास
#हर_हिंदुस्तानी_के_लिए  * आज #वायनाड का सत्य इतिहास
#हर_हिंदुस्तानी_के_लिए
* आज #वायनाड का सत्य इतिहास पढ़े:-
* पाकिस्तान की मांग तो 1930 के बाद उठी !
 अखंड भारत मे केरल  प्रदेश  के अंतर्गत  एक छोटा सा प्रान्त था जिसका नाम था “मोपली ” सन 1921 में ही वहाँ इस्लामी जनसंख्या 50 % हो गई थी।
* तभी सन 1921 में ही वहां , “मोपलिस्तान ” की अलग इस्लामी देश की मांग उठी थी।
तभी वहां हिंदुओं का क़त्लेआम हुआ था , जो आज भी जारी है।
बाद के काल मे 1925 में संघ की स्थापना हुई , 1930 में हिन्दू महासभा की , इन दोनों संगठनों ने ” मोपलिस्तान ” का जमकर विरोध किया !
अन्यथा 15 अगस्त 1947 को ही कांग्रेस , मुस्लिम लीग व कम्युनिस्ट पार्टी के सहयोग से  ये एक तीसरा देश खड़ा हो जाता।
*  विशेष ध्यान देने की बात ये है कि मोपलिस्तान की राजधानी है ” वायनाड ” !
 जहां कांग्रेसियों व कम्युनिस्ट्स ने चौराहे पर खुले आम गाय काटी थी !
अब हम सभी समझ सकते हैं कि हमारे
“जनेऊधारी, मंदिर में जाने वाले , तिलक चंदन लगाने वाले , पूजा करने वाले , अपना गोत्र बताने वाले , स्वयं को हिन्दू ब्राह्मण बताने वाले :- राहुल गांधी
👇
 अब वहां से चुनाव क्यों लड़ रहे हैं !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here